Home Breaking News आप भले सरकार कहें लेकिन मोदी खुद को सेवक मानता है: मोदी

आप भले सरकार कहें लेकिन मोदी खुद को सेवक मानता है: मोदी

0
आप भले सरकार कहें लेकिन मोदी खुद को सेवक मानता है: मोदी

वाराणसी – केन्द्र और उत्तर प्रदेश की सरकारों को गरीबों की चिंता करने वाली बताते हुये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा “ आप भले सरकार कहें लेकिन मोदी खुद को सेवक मानता है। इसी भाव से देश की उत्तर प्रदेश की और काशी की सेवा कर रहा हूं।”


अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 1780 करोड़ रुपये की 28 विकास परियोजनाओं की सौगात देने के बाद श्री मोदी ने कहा कि काशी के विकास की चर्चा आज पूरे देश और दुनिया में हो रही है। जो काशी में आ रहा है वो यहां से ऊर्जा लेकर जा रहा है। 8-9 वर्षों के विकास कार्यों के बाद, जिस तेजी से बनारस का विकास हो रहा है, अब उसे नई गति देने का समय आ गया है। रोड हो, पुल‍ हो, रेल हो, एयरपोर्ट हो कनेक्‍ट‍िव‍िटी के तमाम नए साधनों ने काशी आना-जाना बहुत आसान कर द‍िया है। अब जो रोप-वे यहां बन रहा है इससे काशी की सुव‍िधा और आकर्षण बढ़ेगा।आज बनारस एयरपोर्ट में नये एटीसी टावर का लोकार्पण हुआ है। इससे एयर कनेक्टिविटी बढ़ेगी।


संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय परिसर में आयोजित जनसभा में प्रधानमंत्री ने कहा कि काशी में स्‍मार्ट स‍िटी म‍िशन के तहत जो काम हो रहे हैं, उनसे भी सुव‍िधाएं बढ़ेगीं और आने-जाने के साधन बेहतर हो जाएंंगे। काशी में श्रद्धालुओं और पर्यटकों की छोटी-छोटी आवश्‍यकताओं को ध्‍यान में रखकर फ्लोटिंग जेट्टी का न‍िर्माण क‍िया जा रहा है। गंगा के दोनों ओर पांच किलोमीटर के दायरे में प्राकृतिक खेती होगी। इसका बजट में भी प्रविधान किया गया है।


उन्होने कहा कि करखियांव में पैकेजिंग सेंटर बनारस, गाजीपुर, जौनपुर समेत छोटे शहरों के उत्पाद लंदन व दुबई जैसे देशों तक ले जाएगा। निर्यात से किसानों तक पैसा आएगा। आज केंद्र व प्रदेश में जो सरकार है गरीब की सेवा करने वाली सरकार है। उन्होंने कहा “ आप भले सरकार कहें लेकिन मोदी खुद को सेवक मानता है। इसी भाव से देश की उत्तर प्रदेश की काशी की सेवा कर रहा हूं। आज बनारस के हजारों लोगों को सरकार की सेवाओं का लाभ मिल रहा है।”


प्रधानमंत्री ने कहा “ याद कीजिए वह दिन जब बैंकों में खाता खोलने में पसीने छूट जाते थे। आज गरीब से गरीब के पास भी जनधन खाता है। सरकारी मदद उसके खाते में आती है। छोटा किसान, छोटा व्यवसायी हो, बहनों के स्वयं सहायता समूह हों, मुद्रा योजना से ऋण मिलते हैं। पशुपालकों तक को किसान क्रेडिट से जोड़ा है। रेहडी वालों तक को ऋण मिलना शुरू हुआ है। अबकी बजट में पीएम विश्वकर्मा योजना भी लाए हैं। प्रयास है अमृत काल में कोई भी पीछे न छूटे। ”


हर-हर महादेव के उद्घोष के साथ विशाल जनसैलाब को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा “ आप सब लोगन के हमार प्रणाम बा..” मां चित्रघंटा के आशीर्वाद से बनारस के सुख समृद्धि में एक नया अध्याय जुड़ रहा है।”


उन्होंने कहा क‍ि 25 मार्च को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार की दूसरी पारी का एक साल पूरा हो रहा है। दो तीन दिन पहले योगी जी ने सबसे अधिक कार्यकाल का रिकार्ड बनाया है। सुरक्षा व सुविधा जहां बढती है, समृद्धि बढती है। नए प्रोजेक्ट समृद्धि के रास्ते सशक्त करते हैं। बनारस के युवाओं को ज्यादा से ज्यादा खेलने का मौका मिले, इसके लिए यहां सुविधाएं विकसित की जा रही हैं। अब वाराणसी में इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम भी बनने जा रहा है। आज यूपी विकास के हर क्षेत्र में नए आयाम स्थापित कर रहा है।

पीएम ने कहा कि आज बनारस का लंगड़ा आम, गाजीपुर की भिंडी, जौनपुर की मूली लंदन और दुबई के बाजारों तक पहुंच रही है। जितना ज्यादा एक्सपोर्ट होता है, उतना ज्यादा पैसा किसानों के पास पहुंचता है। विकास का जो रास्ता हमने चुना है, उसमें सुविधा भी है और संवेदना भी है। आज यहां पीने के पानी से संबंधित कई परियोजनाओं का शिलान्यास हुआ है।

प्रधानमंत्री ने जोर देते हुए कहा कि वाराणसी इस बात की गवाही देती है कि चुनौती चाहे कितनी ही बड़ी क्यों न हो, जब सबका प्रयास होता है, तो नया रास्ता भी निकल ही जाता है। 8-9 साल पहले जब काशी के लोगों ने अपने शहर के कायाकल्प का संकल्प लिया था, तो बहुत लोग ऐसे थे जिन्हें आशंकाएं थी कि बनारस में बदलाव नहीं हो पाएगा, काशी के लोग सफल नहीं हो पाएंगे।

इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जब भी प्रधानमंत्री का काशी आगमन होता है, तब वह काशी के लिए कुछ-कुछ लेकर आते हैं। इस बार प्रधानमंत्री 1780 करोड़ के विकास परियोजना काशी को देंगे। उन्होंने कहा कि काशी प्राचीन काल से संस्कृति नगरी रही है। लेकिन पिछले 9 वर्षों से काशी को वैश्विक स्तर पर पहुंचना यह सिर्फ उदाहरण है। पिछले 9 वर्ष में 35 हजार करोड़ की परियोजना का लोकार्पण और शिलान्यास हुआ है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नव्य और भव्य काशी में जी-20 का आयोजन प्रधानमंत्री के नेतृत्व में होने जा रहा है। यह कुशल नेतृत्व की देन है कि वैश्विक स्तर पर उत्तर प्रदेश की पहचान बढ़ी है। योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि वहीं कुछ लोग जब बाहर जाते हैं, तो देश की निंदा करते हैं। भारत का विकास उनको अच्छा नहीं लगता है। वह विकास में बैरियर खड़ा करते हैं।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2004 और 2009 में ईवीएम से चुनाव जीतकर और जनता का विश्वास खोकर अब ईवीएम को दोषी ठहरा रहे हैं। जब जनता ने उनको मौका दिया तब उन्होंने देश को भाषा, क्षेत्र और जातियों में बांटने का काम किया। अब देश के विकास में बाधा बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश ने देखा कि कल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से जब न्यायालय ने अपने कृत्यों पर मांफी मांगने को कहा, तब उन्होंने कहा कि मैं माफी नहीं मागूंगा। यह लोग जातियों की बात करते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा बिना भेदभाव के सबको आवास और रसोई गैस का कनेक्शन दिया। कांग्रेस के लोगों को विकास फूटी आंखों से भी अच्छा नहीं लगता। देश की जनता अपने अपमान का बदला अवश्य लेगी। उनको मांफी मांगना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में गरीब कल्याण की भावना के साथ सरकार काम कर रही है।सबका साथ और सबका विश्वास के नारे के साथ देश में काम हो रहा है। आज भारत दुनिया के सामने एक मिशाल बना है। भारत के लोकतंत्र को अपनाने के लिए दुनिया लालायित हो रही है।

इस दौरान पीएम मोदी ने स्वस्थ दृष्टि समृद्ध काशी के तहत मोतियाबिंद का आपरेशन हुए पांच मरीजों को चश्मा वितरित किया। ये पांच लाभार्थी बृजमोहन, सोफिया,विजय मिश्रा, शीतल एवं हबीबुल्ला रहे। इसी प्रकार विभिन्न बैंकों द्वारा 2003 लाभार्थियों को 1060 करोड़ का ऋण प्रदान किया। इस योजना के पांच लाभार्थियों को पीएम ने प्रतिकात्मक रुप से मंच से चेक प्रदान किया। ये पांच लाभार्थी सोनू अंसारी, रामचंद्र प्रजापति, मंजू देवी, नीतू गुप्ता एवं वीरेंद्र प्रताप गुप्ता रहे।

जनसभा में प्रधानमंत्री के साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक, केंद्रीय मंत्री डॉ महेंद्र नाथ पांडेय, कैबिनेट मंत्री ए.के.शर्मा, कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर, राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार रविन्द्र जायसवाल, राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉ दयाशंकर मिश्र ‘दयालु’, पूर्व मंत्री एवं शहर दक्षिणी विधायक डॉ नीलकंठ तिवारी, कैंट विधायक सौरभ श्रीवास्तव, पिंडरा विधायक डॉ अवधेश सिंह, अजगरा विधायक टी.राम, रोहनिया विधायक सुनील पटेल एवं जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मोर्या मंचासिन रही।

.

News Source: https://royalbulletin.in/you-may-call-it-government-but-modi-considers-himself-a-servant/24653

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here