Home Breaking News ये भी जरूरी हैं उत्तम स्वास्थ्य के लिए

ये भी जरूरी हैं उत्तम स्वास्थ्य के लिए

0
ये भी जरूरी हैं उत्तम स्वास्थ्य के लिए

योगाभ्यास करने के बाद नहाने के लिए कम से कम 15 से 20 मिनट का अन्तराल रखें। यदि आप पहले नहाना चाहते हैं तो नहाने के 15-20 मिनट बाद योगाभ्यास प्रारम्भ करें।
अच्छे स्वास्थ्य हेतु कम से कम 15 मिनट का योगाभ्यास कर सकते हैं।

– Advertisement –

महिलाओं को विशेषकर रजोनिवृत्ति के समय अधिक कैल्शियम लेना चाहिए। कम कैल्शियम लेने से हड्डियां कमज़ोर और चटकीली हो जाती हैं। दूध और दूध से बनी चीजों का सेवन करें। बादाम भी कैल्शियम का एक अच्छा स्रोत है। बादाम का सेवन भी कर सकते हैं।
बलगम आने पर कभी उसे निगलें नहीं। इससे पेट में इन्फेक्शन हो सकता है। यह इन्फेक्शन फेफड़ों तक पहुंच कर टी.बी. जैसी खतरनाक बीमारी को जन्म दे सकता है।

तनाव दूर करने के लिए बच्चों के साथ खेलिए, संगीत का आनन्द लीजिए और बच्चों के साथ बच्चों जैसी हरकतें कीजिए। बड़े बुजुर्गो को घर में खाली समय व्यतीत करने के लिए सबसे अच्छा साधन है रसोई में जाकर देखें कि पत्नी, बेटी या नौकर क्या पका रहे हैं और उनकी मदद कीजिए, दाल धोने, चावल धोने, सब्जी धोने, सब्जी हिलाने और आंच को कम या अधिक करने आदि में। ऐसा करने से तनाव भी दूर होगा और समय भी अच्छा व्यतीत होगा।

जब आपका आराम करने का मूड हो तो बिस्तर पर उचित सहारा लेकर, लेटकर टी.वी. देख सकते हैं या पुस्तक पढ़ सकते हैं। उचित सहारे का विशेष ध्यान रखें। ऐसा न करने पर मांसपेशियों पर दबाव पड़ सकता है और हमेशा के लिए दर्द बढ़ सकता है।

प्रसव के बाद माताओं को शिशु को अपना दूध ही देना चाहिए जो शिशु के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। इससे शिशु की शरीर में रोगों से लडऩे की शक्ति का निर्माण होता है। विटामिन ‘ए’ से भरपूर दूध का पूरा इस्तेमाल करना चाहिए।
यदि कीटनाशक दवाओं का उपयोग ठीक तरह से न किया जाए तो ये घातक सिद्ध हो सकती हैं।
पेट के बल सोने की वजह से गर्दन व कंधों की मांसपेशियों पर जोर पड़ता है जिससे मांसपेशियों में जकडऩ हो सकती है। सबसे अच्छा करवट लेकर सोना होता है।

दूध, टमाटर, अंडे या अन्य खाद्य पदार्थों के सेवन से एलर्जी होने पर त्वचा पर दाने, सांस फूलना आदि हो सकते हैं। जो खाद्य पदार्थ खाने के बाद एलर्जी हो, उसे अपने भोजन से हमेशा के लिए अलविदा कह दें।

बालों के झडऩे का मुख्य कारण अपर्याप्त पोषाहार, तनाव, चिन्ता व बेचैनी है। इन चीजों से स्वयं को बचा कर रखें।
मोटे लोगों के लिए पपीते का सेवन लाभप्रद है। वैसे 100 ग्राम पपीते में केवल 32 कैलोरी होती हैं। इस फल से थोड़े से कार्बोहाइड्रेट के साथ ढेर सारा रेशा मिलता है। पपीते में विटामिन ए, बी और सी प्रचुर मात्रा में मिलते हैं। मोटे लोगों के लिए यह एक आदर्श फल है।

जो फल बिना छीले खाए जायें, उन्हें छीलकर मत खायें। फल को अच्छी तरह से धोकर, पोंछकर ही खायें। छिलका उतारने से फलों के विटामिन और खनिज कम हो जाते हैं। केला, संतरा, मौसमी, अनान्नास, अनार, पपीता छिलका उतारकर खायें।

यात्रा से हुई थकान, बदनदर्द, मांसपेशियों में खिंचाव, कमर की अकडऩ होने पर पेन-किलर लेकर कुछ समय आराम करने से आपको राहत मिल सकती है। गर्म पानी की बोतल से सिंकाई कर दर्द में आराम मिलता है।
अंकुरित खाद्य पदार्थ शरीर को सभी विटामिन और खनिज उपलब्ध करवाते हैं, इसलिए अंकुरित भोजन अमृत भोजन माना जाता है।
– सुनीता गाबा

.

News Source: https://royalbulletin.in/these-are-also-necessary-for-good-health/76176

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

?>