Home Breaking News हिस्ट्रीशीटर ने मंदिर के पुजारी के बेटे को दौड़ा-दौड़ा कर बुरी तरह पीटा, फिर मार कर घर की चौखट पर लटका दिया, पढ़ें पूरा मामला क्या है……

हिस्ट्रीशीटर ने मंदिर के पुजारी के बेटे को दौड़ा-दौड़ा कर बुरी तरह पीटा, फिर मार कर घर की चौखट पर लटका दिया, पढ़ें पूरा मामला क्या है……

0
हिस्ट्रीशीटर ने मंदिर के पुजारी के बेटे को दौड़ा-दौड़ा कर बुरी तरह पीटा, फिर मार कर घर की चौखट पर लटका दिया, पढ़ें पूरा मामला क्या है……

बिजनौर के परवार पश्चिम गांव में शनिवार की देर शाम एक हिस्ट्रीशीटर और उसके परिवार वालों ने भागकर पुजारी के बेटे शोभित (21) की पिटाई कर दी. फिर उसने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी और शव को घर के दरवाजे पर लटका दिया। ताकि इसे आत्महत्या का रूप दिया जा सके। देर रात पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि हुई। पुलिस ने इस मामले में हिस्ट्रीशीटर गजोधर समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है।Read Also:-UP : एक सनकी युवक ने कई किसानों को बलकटी व फावड़े से काटा, तीन की हुई मौत, घायलों की हालत गंभीर, वारदात के बाद आरोपी हुआ फरार

पुलिस पहले कह रही थी कि शोभित ने पिटाई से आहत होकर आत्महत्या कर ली। परिवार उसी गांव में स्थित एक मंदिर में पुजारी है, जहां राकेश पश्चिम गांव में रहता है। उन्होंने बताया कि शनिवार की रात उनके बेटे शोभित का शव घर की चौखट पर लटका मिला। बेटे को इस हालत में देख उसकी चीख निकल गई। आनन-फानन में सभी ने बेटे को फंदे से निकला। उसे अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

कुछ समय पहले हिस्ट्रीशीटर ने बेटे को पीटा था।
राकेश ने बताया कि लोधन टोला निवासी हिस्ट्रीशीटर गजोधर व उनके पुत्र अमित व अरविंद, वीरेंद्र, कमल, उमा, मोनू, अमित गुड्डी व अन्य ने शनिवार की देर शाम बेटे शोभित को घर के बाहर बुलाया था। शोभित घर से बाहर आ गया। इससे पहले कि वह कुछ समझ पाते आरोपी ने बेटे को बंधक बनाकर पीटना शुरू कर दिया। जब वह किसी तरह उनके चंगुल से छूटा तो उसने दौड़ा-दौड़ा कर उसकी पिटाई शुरू कर दी। उसकी आवाज सुनकर बेटी सोनल, राधा और बेटा अंशुमान उन्हें बचाने दौड़े तो आरोपियों ने उन पर भी हमला कर दिया। पीड़ित परिवार ने हमलावरों पर बेटी की चेन और टॉपस लूटने का भी आरोप लगाया है। ग्रामीणों के विरोध करने पर हमलावर भाग निकले।

कुछ घंटों के बाद फंदे से लटका मिला शव
परिजनों का कहना है कि हमलावरों की पिटाई के कुछ घंटे बाद शोभित का शव घर के दरवाजे पर लटकता मिला। राकेश का आरोप है कि हमलावरों ने उसके बेटे की हत्या कर शव को लटका दिया ताकि इसे आत्महत्या कहा जा सके। शोभित के पैर जमीन को छू रहे थे। राकेश ने यह भी आरोप लगाया कि शोभित की पिटाई की शिकायत बिजनौर थाने में की गई लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

शोभित की चप्पल और बनियान घर के बाहर जानवरों के पास मिले, जबकि दूसरी चप्पल आरोपी अमित उर्फ ​​मोनू के घर के पास मिले हैं। जिस गमछे से गला घोंटा गया वह भी शोभित का नहीं है। इंस्पेक्टर बिजनौर राजकुमार सिंह ने बताया कि इस मामले में गजोधर, रामचंद्र, वीरेंद्र और गुड्डी को गिरफ्तार किया गया है। अन्य की तलाश की जा रही है।

जुआ खेलने को लेकर हुआ था विवाद
राकेश ने बताया कि गजोधर और उसका भतीजा अक्सर घर के पास खाली प्लॉट में जुआ खेलते हैं। उनके बेटे ने कई बार इसका विरोध किया था। इस बात को लेकर गजोधर और उसके परिवार के सदस्यों की उसके बेटे से भी रंजिश थी।

whatsapp gif

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

?>