Home Breaking News इलेक्ट्रिक वाहन का दौर : चंडीगढ़-दिल्ली रोड बना देश का पहला इलेक्ट्रिक व्हीकल हाईवे, हर 25 किमी पर चार्जिंग स्टेशन, सोलर पावर वाला पहला स्टेशन भी यहां पर

इलेक्ट्रिक वाहन का दौर : चंडीगढ़-दिल्ली रोड बना देश का पहला इलेक्ट्रिक व्हीकल हाईवे, हर 25 किमी पर चार्जिंग स्टेशन, सोलर पावर वाला पहला स्टेशन भी यहां पर

0
इलेक्ट्रिक वाहन का दौर : चंडीगढ़-दिल्ली रोड बना देश का पहला इलेक्ट्रिक व्हीकल हाईवे, हर 25 किमी पर चार्जिंग स्टेशन, सोलर पावर वाला पहला स्टेशन भी यहां पर

चंडीगढ़-दिल्ली हाईवे इलेक्ट्रिक वाहन वाला देश का पहला हाईवे बन गया है। देश का पहला सोलर पावर्ड चार्जिंग स्टेशन भी गुरुवार से इसी हाईवे पर करनाल लेक रिसॉर्ट्स में शुरू हो गया है। यह देश में चलने वाले सभी प्रकार के ई-वाहनों को चार्ज करने में सक्षम है। इसके साथ ही 250 किमी लंबे इस हाईवे पर चार्जिंग स्टेशनों की संख्या 19 हो गई है। अब हर 25 से 30 किमी पर एक चार्जिंग स्टेशन है। दिल्ली से चंडीगढ़ तक 10 और चंडीगढ़ से दिल्ली की तरफ 9 चार्जिंग स्टेशन हैं। आम तौर पर ई-वाहन को हर 100 किमी पर एक बार चार्ज करना पड़ता है। ये भी पढ़े-यूपी : इन 35 जिलों में अलर्ट जारी, घर से बाहर निकलने की मनाही

food

हर महीने 6000 से 9000 की बचत संभव
ईवी के क्या फायदे हैं?
इलेक्ट्रिक वाहन चलाना न केवल पेट्रोल-डीजल बल्कि सीएनजी से भी सस्ता है। ये बहुत कम प्रदूषण फैलाते हैं।
ईवीएस की उपलब्धता और लागत क्या है?
दुपहिया वाहन में कई विकल्प होते हैं। कारों में फिलहाल दो-तीन ब्रांड हैं। एक ईवी दोपहिया की कीमत पेट्रोल वाहन के बराबर है। कारें पेट्रोल और डीजल से महंगी हैं।

devanant hospital


ईवी पर क्या है सब्सिडी?
फेम टू स्कीम के तहत केंद्र सरकार इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स खरीदने पर 15 हजार रुपये/kWh बैटरी के आधार पर इंसेंटिव देती है. 3 kW बैटरी वाले दोपहिया वाहन पर 45,000 रुपये तक की सब्सिडी मिल सकती है। महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली 10-20 हजार रु. रुपये तक की अतिरिक्त सब्सिडी १० हजार रुपए/किलोवाट की बैटरी क्षमता के अनुसार कारों पर १.५ लाख रुपए। तक सब्सिडी
यदि EV प्रतिदिन 50 किमी ड्राइव करे तो कितनी बचत होगी?
EV चलाने की लागत 1 रुपये से लेकर 1.25 रुपये प्रति किमी तक होती है। 50 किमी दौड़ने पर 50-70 रुपये खर्च होंगे। एक पेट्रोल कार में यह 250-350 रुपये है। ऐसे में हर महीने 6000 से 9000 रुपये की बचत संभव है.

dr vinit new

चार्ज करने के लिए अलग कनेक्शन लेना होगा?
इलेक्ट्रिक वाहन बेचने वाली कंपनियां ग्राहक के घर पर चार्जिंग यूनिट लगाती हैं। कोई अलग कनेक्शन की जरूरत नहीं है।
EV को चार्ज होने में कितना समय लगता है?
घर पर एक वाहन को चार्ज करने में 8-10 घंटे लगते हैं। वाणिज्यिक या फास्ट चार्जिंग स्टेशनों में, समय 1 से 1.5 घंटे तक कम हो जाता है। सोलर चार्जिंग स्टेशन ई-कार को दो घंटे से भी कम समय में तेजी से चार्ज कर सकता है। इसकी कीमत 400 से 450 रुपये है। दोपहिया वाहन को 20 मिनट में चार्ज किया जा सकता है। इस पर 50 रुपये खर्च किए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

?>