Home Breaking News सार्जेंट के माता-पिता ही बहू के हत्यारे: वायु सेना ऑफिसर की लव मैरिज बनी प्यार की दुश्मन, 17 फरवरी को घर से गायब हो गई थी महिला, दो लोग हुए गिरफ्तार

सार्जेंट के माता-पिता ही बहू के हत्यारे: वायु सेना ऑफिसर की लव मैरिज बनी प्यार की दुश्मन, 17 फरवरी को घर से गायब हो गई थी महिला, दो लोग हुए गिरफ्तार

0
सार्जेंट के माता-पिता ही बहू के हत्यारे: वायु सेना ऑफिसर की लव मैरिज बनी प्यार की दुश्मन, 17 फरवरी को घर से गायब हो गई थी महिला, दो लोग हुए गिरफ्तार

पुलिस ने थाना सरसावा पुलिस व सहारनपुर की अपराध शाखा द्वारा वायुसेना थाना सार्जेंट अमराव सिंह राठौर की पत्नी पूजा राठौर (28) की हत्या का खुलासा किया है। पुलिस ने सुपारी के दो हत्यारों परवेज फौजी और मोनू को गिरफ्तार किया है। लड़की के ससुर श्रवण सिंह राठौर और सास किरण कंवर ने 80 हजार रुपए की सुपारी देकर बहू की हत्या करवा दी थी। सास अभी भी फरार है। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त बाइक, मृतक के जेवर व अन्य सामान बरामद कर लिया है।Read Also:-प्रेमी-प्रेमिका घर में ही मना रहे थे ‘रंगरलियां’, तभी आ पहुंचा लड़की का भाई, उसके बाद जाने फिर क्या हुआ

युवती 17 फरवरी को घर से गायब हो गई थी
बी-ब्लॉक विष्णु विहार आरके पुरम, बीकानेर, राजस्थान निवासी अमराव सिंह राठौर, वायु सेना, सरसावा के सार्जेंट के पद पर तैनात हैं। फिलहाल वह अपनी पत्नी पूजा राठौर के साथ वायु सेना स्टेशन सोराना में रहते थे। 17 फरवरी को लड़की अचानक घर से गायब हो गई थी। जिसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट पति अमराव राठौर ने 20 फरवरी को थाना सरसावा में दर्ज कराई थी। तहरीर में हवलदार ने अपने माता-पिता और दो अन्य के नाम लिखे थे। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। लड़की के शव को 21 फरवरी को हरियाणा के यमुनानगर में यमुना नहर में फेंक दिया गया था। पुलिस ने शव बरामद किया।

हत्या में शामिल सेना
पुलिस के मुताबिक सार्जेंट अमराव राठौर के माता-पिता राजस्थान से सहारनपुर आए थे। अमराव राठौर ने 2018 में पूजा राठौर के साथ प्रेम विवाह किया था। जिसके खिलाफ युवक के माता-पिता थे और दोनों ने पूजा को रास्ते से हटाने की योजना बनाई। उन्होंने सहारनपुर के परवेज फौजी से संपर्क किया। पूजा की हत्या का ठेका पांच लाख रुपए में दिया गया था। इसका एडवांस 80 हजार रुपए दिया गया। परवेज फौजी ने मोनू को 50 हजार रुपये में मारने का फैसला किया, जिसके अग्रिम में परवेज ने 10 हजार रुपये मोनू को दे दिए। परवेज ने सेना से वीआरएस लिया था।

इस तरह प्रकट किया
पूजा के लापता होने के तीन दिन बाद अमराव राठौर ने पुलिस को गुमशुदगी की शिकायत दी थी। जिसमें उसके माता-पिता समेत चार लोगों के नाम लिखे थे। पुलिस ने हवलदार के माता-पिता की लोकेशन ट्रेस कर ली है। जिसके बाद पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार करने का प्रयास किया, लेकिन दोनों फरार हो गए. लेकिन दोनों आरोपित परवेज और मोनू को गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में आरोपियों ने मृतक के ससुर को सुपारी देकर मारने का राज उजागर किया है।

प्रेम विवाह बन जाता है दुश्मन
सार्जेंट अमराव राठौर ने 2018 में पूजा राठौर के साथ प्रेम विवाह किया था। पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि युवक के माता-पिता दोनों के प्रेम विवाह से खुश नहीं थे। जिसके बाद उन्होंने सुनियोजित तरीके से हत्या करने की योजना बनाई। वह चुपचाप सहारनपुर आ गया और 5 लाख रुपये में सुपारी देने का फैसला किया और 80 हजार रुपये का अग्रिम भी दिया। आरोपी ने बताया कि युवक के पिता श्रवण राठौर सेवानिवृत्त सिपाही हैं। आरोपी ने बताया कि युवती को पहले बेहोशी की हालत में बाइक पर मुजफ्फरनगर हाईवे पर ले जाया गया। जहां दूसरे वाहन में ले जाने के बाद बेहोशी की हालत में उसकी गला घोंटकर हत्या कर दी गई।

एसपी देहात अतुल शर्मा का कहना है कि सार्जेंट अमराव राठौर की पत्नी की हत्या उसके माता-पिता ने सुपारी देकर की थी। शव को मारने के बाद उसे छुपाने के लिए यमुनानगर ले जाया गया और वहां शव को यमुना नहर में फेंक दिया गया। पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। जबकि हवलदार के माता-पिता फरार हैं। इनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

whatsapp gif

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

?>