Home Breaking News मेरठ: सोतीगंज माफिया की 8 करोड़ की संपत्ति जब्त, चोरी व लूट के वाहनों को काट कर बना करोड़पति, दिल्ली व हरियाणा के वाहनो को भी खपाया

मेरठ: सोतीगंज माफिया की 8 करोड़ की संपत्ति जब्त, चोरी व लूट के वाहनों को काट कर बना करोड़पति, दिल्ली व हरियाणा के वाहनो को भी खपाया

0
मेरठ: सोतीगंज माफिया की 8 करोड़ की संपत्ति जब्त, चोरी व लूट के वाहनों को काट कर बना करोड़पति, दिल्ली व हरियाणा के वाहनो को भी खपाया

मेरठ पुलिस ने शनिवार शाम चोरी व लूट के वाहनों को काटने वाले माफिया की 8 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है। हाजी इकबाल ने अपने गिरोह के साथ करोड़ों रुपये की संपत्ति अर्जित की है। मेरठ पुलिस ने अवैध कमेला सोतीगंज वाहनों को पहले ही बंद कर दिया है। एसएसपी प्रभाकर चौधरी का कहना है कि अब तक 52 करोड़ की कबाड़ियों की अवैध संपत्तियां जब्त की जा चुकी हैं।Read Also:-गाड़ी चलाते समय फोन पर बात करना अब अपराध नहीं! लेकिन ये है शर्त, जानिए केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने क्या कहा?

25 साल से काटे जा रहे थे चोरी व डकैती के वाहन
एएसपी मेरठ सूरज राय का कहना है कि पुलिस ने हाजी इकबाल की संपत्ति की जांच की। पता चला कि हाजी इकबाल अपने परिवार और गिरोह के साथ सोतीगंज में अवैध रूप से वाहन काटता था। हाजी इकबाल ने 1997 से सोतीगंज में वाहनों को काटना शुरू किया था। उसके खिलाफ अलग-अलग जगहों पर चोरी और चोरी के वाहन खरीदने के मामले भी दर्ज हैं। पुलिस ने हाजी इकबाल के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की।

दस साल में एक कोठी खरीदी
पुलिस का कहना है कि हाजी इकबाल ने मेरठ के सदर बाजार, रवींद्रपुरी, पटेल नगर में तीन कमरे और एक दुकान खरीदी है। पुलिस ने सरकारी रिकॉर्ड में आठ करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति जब्त की है। पुलिस ने हाजी इकबाल के साथियों मुन्नू कबड्डी, राहुल काला, हाजी गल्ला समेत 11 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की है।

सोतीगंज बंद हो गया
मेरठ का सोतीगंज बाजार यूपी, हरियाणा, दिल्ली, पंजाब, उत्तराखंड और राजस्थान के लिए परेशानी का सबब था। दूसरे राज्यों से चोरी और लूटे गए वाहन मेरठ के सोतीगंज में खरीदे गए। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने दो महीने पहले मेरठ के सोतीगंज बाजार को बंद कर दिया है। सोतीगंज में कबाड़ियों की 570 दुकानें और गोदाम हैं।

whatsapp gif

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

?>