Home Breaking News मेरठ: बसपा का ब्राह्मण सम्मेलन आज, भीड़ जुटाने के लिए परशुराम का सहारा; अन्य पार्टियों के नेता भी होर्डिंग में आ रहे नजर

मेरठ: बसपा का ब्राह्मण सम्मेलन आज, भीड़ जुटाने के लिए परशुराम का सहारा; अन्य पार्टियों के नेता भी होर्डिंग में आ रहे नजर

0
मेरठ: बसपा का ब्राह्मण सम्मेलन आज, भीड़ जुटाने के लिए परशुराम का सहारा; अन्य पार्टियों के नेता भी होर्डिंग में आ रहे नजर

उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों ने तैयारी शुरू कर दी है। इसी कड़ी में बसपा भी वोटरों का रुख अपनी तरफ करने के लिए पूरा जाेर लगा रही है। बसपा प्रदेश की सत्ता हासिल करने के लिए 2007 के बाद एक बार फिर ब्राहमण, दलित समीकरण पर लौट रही है। बसपा वेस्ट यूपी के बिजनौर से अपने चुनाव प्रचार अभियान का आगाज कर चुकी है। अब वेस्ट यूपी के सबसे बड़े जिले मेरठ पर बसपा की नजर है। पार्टी यहां भी दलित, ब्राहमण समीकरण साधना चाहती है। इसके लिए पार्टी ने मंगलवार यानि आज पार्टी का ब्राह्मण सम्मेलन आयोजित किया है। 

dr vinit

सम्मलेन को पार्टी ने प्रबुद्ध वर्ग के सम्मान, सुरक्षा व तरक्की को लेकर विचार संगोष्ठी नाम दिया है। बसपा के महामंत्री ब्रह्मजीत ने बताया कि 10 अगस्त को विरासत रिसोर्ट गढ़ रोड में संगोष्ठी होगी। इसमें मुख्य वक्ता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और सांसद सतीश चंद मिश्रा रहेंगे। कार्यक्रम संयोजक मेरठ-सहारनपुर मंडल पंडित प्रवीन वशिष्ठ, अखिल भारतीय ब्राह्राण महासभा राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित सतेश्वर दत्त शर्मा, मुख्य संयोजक बसपा मेरठ-सहारनपुर मंडल बाबू चमन लाल ने दी। 

bsp

महामंत्री ब्रह्मजीत ने बताया कि संगोष्ठी की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। बसपा के कार्यकाल में कभी प्रबुद्धों के साथ अन्याय नहीं हुआ, ब्राहमणों को हमेशा मान दिया गया, मगर आज प्रदेश में कई ऐसे प्रकरण हैं जिसमें ब्राहमणों के साथ अन्याय हुआ है। मेरठ जिलाध्यक्ष मोहित जाटव ने बताया प्रबुद्ध वर्ग के साथ वर्तमान सरकार में जो अन्याय हो रहा है उस उत्पीड़न से बचाने का प्रयास है। बसपा समाज के हर उस व्यक्ति के साथ है जिसका शोषण भाजपा सरकार कर रही है। इसलिए यह संगोष्ठी आयोजित की जा रही है। प्रबुद्ध वर्ग को उत्पीड़न से बचाना है। प्रबुद्ध वर्ग के सम्मान, सुरक्षा, तरक्की को लेकर होने वाली विचार संगोष्ठी में ब्राह्मणों को जुटाने के लिए घरों में पर्चे बांटकर आमंत्रित किया गया है। इसके साथ ही जिले में जगह-जगह होर्डिंग लगे हैं। आयोजकों के सामने बड़ी चुनौती संगोष्ठी में प्रबुद्ध वर्ग को एकत्र करने की है। शहर के प्रमुख हिंदु बाहुल्य इलाकों में घरों में पर्चे डाले जा रहे हैं, ताकि लोग संगोष्ठी में पहुंचे। ब्राहमणों को लुभाने के लिए निमंत्रण पत्र और पर्चे पर परशुराम का चित्र भी लगाया है।

ankit

हमें पार्टी से लेना-देना नहीं है

बसपा के ब्राह्मण सम्मेलन में भीड़ जुटाने के लिए जिले में जगह-जगह जो होर्डिंग लगााए गए हैं उनमें अन्य पार्टियों के नेताओं के फोटो भी लगे हैं। ऐसे में लोगों के मन में उथल-पुथल शुरू हो गई। कयास लगाए जा रहे हैं कि कहीं बसपा इन नेताओं को इस चुनाव में अपनी तरफ तो नहीं कर रही। इस बारे में गंगाननगर व्यापार मंडल अध्यक्ष आमोद भारद्वाज का कहना है कि हम ब्राह्मण सम्मेलन में शामिल होंगे, ब्राह्मण एक हैं हमें पार्टी से लेना-देना नहीं है। ब्राह्मणों के हित में जो सही होगा वह हम करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here