Home Breaking News केशव दास मौर्य ने किया सपा से गठबंधन, अखिलेश बोले- अब तो 400 सीट पर जीत पक्की हो गई है

केशव दास मौर्य ने किया सपा से गठबंधन, अखिलेश बोले- अब तो 400 सीट पर जीत पक्की हो गई है

0
केशव दास मौर्य ने किया सपा से गठबंधन, अखिलेश बोले- अब तो 400 सीट पर जीत पक्की हो गई है

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) की तैयारियां जोरों पर हैं. यूपी की सत्ताधारी पार्टी बीजेपी (BJP) जहां पहले से एक्शन मोड में है.

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) के लि समाजवादी पार्टी पूरी तरह एक्शन मोड में दिखाई दे रही है। वोटरों का रुख अपनी तरफ करने के लिए अब समाजवादी पार्टी ने छोटे दलाें को जोड़ना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में सपा ने महान दल के साथ गठबंधन कर लिया है। महान दल के अध्यक्ष केशव देव मौर्य ने अपने समर्थकों को नया चुनावी नारा देते हुए कहा, ‘महान दल ने ठाना है, सपा सरकार बनाना है।

रविवार को लखनऊ स्थित सपा कार्यालय पर महान दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव देव मौर्य ने महासम्मेलन का अयोजन किया। इस मौके पर अखिलेश यादव और सपा पिछड़ा वर्ग कके अध्यक्ष राजपाल कश्यप मौजूद रहे। इस दौरान अखिलेश यादव ने यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को नकली केशव बताते हुए कहा कि असली केशव तो महानदल के अध्यक्ष केशव दास मौर्य हैं जो सपा के साथ हैं।

 उन्होंने कहा, ”जो नारा आपने दिया है, उसे कई कार्यक्रमों में सुना गया है। कासगंज की ऐतिहासिक जनसभा में आपकी पार्टी की टोपी और आपका झंडा लहराता दिख रहा था और हम लोग किसानों के समर्थन में खड़े हुए थे। जो नारा वहां शुरू हुआ था, वह लखनऊ के करीब आ गया है।”

dr vinit

दरअसल कासगंज में इसी वर्ष मार्च माह में तीन कृषि कानूनों के खिलाफ महान दल और सपा ने एक महापंचायत आयोजित की थी और उसी दिन अखिलेश यादव ने संकेत दिया था कि सपा और महान दल मिलकर विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे। यादव ने कहा, ‘‘अभी तक तो मैं 350 सीटों पर जीत की बात कह रहा था लेकिन महान दल से कार्यक्रम तय होने के बाद 400 सीट पर जीत पक्की हो गई है।

उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा के लोग जातिवार जनगणना नहीं कराना चाहते हैं और हमारे-आपके बीच लड़ाई कराना चाहते, लेकिन अगर सपा की सरकार बनेगी तो यह जनगणना होगी।” यादव ने मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ पर तंज कसते हुए कहा, ”क्या आपको लगता है कि वे योगी हैं, सोचो कि उनकी भाषा क्या है, उन्होंने नेताजी के बारे में क्‍या कहा। वैसे हम उस झगड़े में नहीं पड़ेंगे लेकिन असली लड़ाई यह है कि क्या उत्तर प्रदेश खुशहाली के रास्ते पर जाएगा या नहीं, क्योंकि उन्होंने (योगी) विकास रोक दिया है और उनका विकास केवल विज्ञापनों में है।’

advt.

‘महान दल’ से गठबंधन 

यूपी चुनाव के लिए बीजेपी की तर्ज पर अब समाजवादी पार्टी भी छोटे-छोटे दलों की अहमियत समझते हुए उन्हें अपने साथ जोड़ रही है। रुहेलखंड और पश्चिमी यूपी के कुछ जिलों में सक्रिय महान दल अपनी बड़ी ताकत होने का दावा करता है। ‘

इस वोट बैंक पर नजर

महान दल, ओबीसी समाज के मौर्य, शाक्य, सैनी, कुशवाहा समाज वोट पर अपना दावा करता है। इस गठबंधन को अखिलेश के ओबीसी कार्ड के तौर पर देखा जा रहा है। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल 14 मई, 2022 को पूरा होने जा रहा है. इससे करीब एक महीने पहले तारीखों का ऐलान हो सकता है. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here