Home Breaking News शामली में बीजेपी नेता ने टिकट न मिलने पर दे दी जान, माँ बोली- टिकट नहीं चाहिए, मेरा लाल वापस लौटा दो !

शामली में बीजेपी नेता ने टिकट न मिलने पर दे दी जान, माँ बोली- टिकट नहीं चाहिए, मेरा लाल वापस लौटा दो !

0
शामली में बीजेपी नेता ने टिकट न मिलने पर दे दी जान, माँ बोली- टिकट नहीं चाहिए, मेरा लाल वापस लौटा दो !

शामली -भारतीय जनता पार्टी से सभासद का टिकट ना मिलने पर भारतीय जनता पार्टी के एक प्रमुख नेता ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली।

– Advertisement –

शामली जिले के कांधला के मोहल्ला रायजादगान निवासी दीपक  सैनी पर वर्तमान में भाजपा के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ में जिला शोध प्रमुख की जिम्मेदारी थी। वह कांधला के वार्ड नंबर 3 से सभासद का टिकट मांग रहे थे। रविवार शाम को भाजपा ने वार्ड सभासदों की सूची जारी की जिसमें दीपक सैनी का नाम नहीं था, जिसे देखकर दीपक मायूस हो गए और उन्होंने घर पहुंच कर जहर खा लिया।  आनन-फानन में उन्हें प्राइवेट अस्पताल में लेकर गए, हालत गंभीर होने पर डॉक्टरों ने उन्हें मेरठ के लिए रेफर कर दिया। जहाँ इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई।

भारतीय जनता पार्टी के सक्रिय कार्यकर्ताओं में शामिल दीपक सैनी पार्टी में लंबे समय से बहुत मेहनत कर रहे थे, उन्होंने चेयरमैन टिकट के लिए आवेदन किया था लेकिन उम्र कम रहने के कारण उन्हें सभासद का चुनाव लड़ने को कहा गया।

दीपक सैनी कांधला के वार्ड 3 से पूर्व में भी सभासद रह चुके थे और उन्हें उम्मीद थी कि पार्टी इस बार उन्हें फिर से मौका देगी लेकिन पार्टी ने टिकट काट दिया जिससे उन्होंने खुद को बहुत अपमानित महसूस किया और जहरीला पदार्थ खाकर अपनी जान दे दी।

दीपक सैनी के पिता भूरू सिंह ठेके पर भूमि लेकर खेती करते हैं। माता-पिता और बड़े भाई के अलावा तीन बहनें हैं। बड़ा भाई शादीशुदा है। दीपक सैनी की मौत के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। दीपक की मौत से परिवार में कोहराम मचा हुआ है और भाजपा के कार्यकर्ताओं में भी निराशा और गुस्से का माहौल है।

मंडल अध्यक्ष रश्मिकांत जैन का कहना है कि दीपक सैनी का नाम पार्टी के प्रत्याशियों की प्रस्तावित सूची में भेजा गया था। नाम किस स्तर से कटा, इसकी जानकारी नहीं है। दीपक के जाने से पार्टी काे बड़ा नुकसान हुआ है।

दीपक की मां प्रेमलता ने बिलखते हुए बताया कि बेटा शाम को घर से मंदिर के लिए निकला था। बोला था कि मां खाना बना लेना, आकर खाऊंगा, सूची जारी होने वाली है। क्या मालूम था कि मेरा बेटा इस दुनिया से ही चला जाएगा। उन्होंने कहा कि हमें चेयरमैनी और मेंबरी नहीं चाहिए, मेरा लाल वापस लौटा दो।

.

News Source: https://royalbulletin.in/in-shamli-bjp-leader-died-for-not-getting-ticket-mother-said-dont-want-ticket-return-my-son/35471

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here