गोरखपुर समाचार: विजिलेंस टीम पर हमला हुआ था, जांच में छह महीने लगे, अब निलंबित – विजिलेंस टीम ने किया हमला जांच में छह महीने लगे अब निलंबित

0

प्रतीकात्मक चित्र।
– फोटो : सोशल मीडिया।

विस्तार

विजिलेंस टीम व मामले में नामजद आरोपितों पर छह माह तक हमले के बाद बिजली निगम ने संविदा कर्मी की सेवा समाप्त कर दी है. अधीक्षण अभियंता ने कार्यकारी फर्म वर्ल्ड क्लास सर्विस सेंटर को बख्शीपुर प्रखंड के ठेका कर्मी यूसुफ की सेवा समाप्त करने का निर्देश दिया.

बख्शीपुर प्रखंड में एक अन्य संविदा कर्मी पदस्थ करें. 1 सितंबर 2022 को विजिलेंस की जांच के दौरान संविदा कर्मी ने टीम पर हमला कर दिया। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। विजिलेंस की तहरीर पर आरोपी संविदा कर्मी के खिलाफ कोतवाली थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है. तभी से मामले की जांच चल रही थी।

तत्कालीन विजिलेंस टीम प्रभारी दिलीप मिश्रा, जेई अंकित श्रीवास्तव, आरक्षक गौरीशंकर, धीरेंद्र कुमार सहित अन्य तिवारीपुर क्षेत्र में चेकिंग अभियान चला रहे थे. मुहल्ले में मकान नंबर-67बी हवेली घासी कटरा में मोहम्मद कैसर खान के पुत्र उपभोक्ता मोहम्मद युसूफ खान का था. प्रभारी ने आरोप लगाया कि युसूफ के घर के ठीक सामने परिसर में चेकिंग चल रही थी. इसी बीच सामने से कुछ आवाज आई।

इसे भी पढ़ें: अप्रैल वैशाख में फाल्गुन की महक इस बार बदली, 13 साल में ऐसा सुहावना मौसम कभी नहीं हुआ

मीटर चेकिंग कराने के लिए जब युसूफ के परिसर में जाने को कहा तो वह भड़क गए। जब उपभोक्ता ने बिजली कनेक्शन का बिल मांगा तो वह बिल दिखाने के बजाय भड़क गया और अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए तेज आवाज में गाली देने लगा। विजिलेंस टीम के सदस्यों और संविदा कर्मचारी मोहम्मद युसूफ खान के बीच विवाद हाथापाई तक पहुंच गया।

पूरे मामले में विजिलेंस टीम प्रभारी दिलीप मिश्रा ने थाने में तहरीर देकर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. इसके बाद निगम की ओर से भी मामले की जांच चल रही थी। अधीक्षण अभियंता शहरी यूसी वर्मा ने बताया कि मामले में दोषी संविदा कर्मी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए सेवा समाप्त कर दी गयी है. विजिलेंस टीम पर हमला करने का आरोप लगाया था। किसी भी मामले में पूरी जांच पड़ताल के बाद ही कार्रवाई की जाती है।

वीडियो भी वायरल हुआ था

इस पूरी घटना का एक वीडियो भी वायरल हुआ था. इसमें दिख रहा था कि विजिलेंस टीम जांच के लिए बोल रही है। इस पर आरोपी पहले तो तीखी आवाज में बोला। विजिलेंस ने विरोध किया तो पास में रखा डंडा व लकड़ी का पट्टा उठा लिया। हमलकर मुद्रा में उसने धमकी दी कि अगर दोबारा जांच के लिए आया तो जान से मार देगा।

.

This news is auto-generated through an RSS feed. We don’t have any command over it. News source: Amar Ujala

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

?>